पद्मावती होतीं तो करणी सेना से ये सवाल ज़रुर पूछतीं!

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

– 18 से 44 साल की लड़कियों/महिलाओं से सबसे ज्यादा रेप इस राज्य में होते हैं।
– यहां हर रोज़ औसतन 10 रेप की वारदातें होती हैं।
– इस राज्य में हर दूसरी महिला अनपढ़ है।
– 20 से 24 साल की लड़कियों में हर तीसरी लड़की की शादी 18 साल से कम उम्र में हुई है इस राज्य में।
– इस राज्य में 15-19 साल की लड़कियों में करीब हर 16वीं लड़की या तो मां बन चुकी है या गर्भवती हुई है।
– यहां हर 1000 लड़कों पर सिर्फ 888 लड़कियां हैं।

ये सारे आंकड़े भारत के जिस राज्य की महिलाओं/लड़कियों का दर्द बयां कर रहे हैं वो राज्य है ‘राजस्थान’। वही राजस्थान जहां के मर्दों का ख़ून आजकल ज़बरदस्त उबाल मार रहा है। उनसे बर्दाश्त नहीं हो रहा कि कैसे उनके राज्य की शान मानी जानेवाली एक महिला/रानी पद्मावती का सम्मान बॉलीवुड की एक फिल्म कम कर सकती है। अब ये बात अलग है कि सड़कों पर पोस्टर जलानेवाले और फिल्म की हिरोइन की नाक काटकर लाने की धमकी देनेवालों में से किसी ने भी फिल्म देखी नहीं है और उन्हें पता तक नहीं है कि फिल्म में है क्या। लेकिन इससे फर्क क्या पड़ता है। उन्हें दिव्यज्ञान की प्राप्ति हुई है कि फिल्म पद्मावती (जो अब पद्मावत हो चुकी है) में रानी पद्मावती के किरदार को वो सम्मान नहीं मिला है जिसकी वो हकदार हैं।

सही बात है, अगर… फिर से कह रहा हूं.. ‘अगर’ रानी पद्मावती के सम्मान में फिल्म में कोई कमी हो तो गुस्सा आना भी चाहिए लेकिन फिल्म बनानेवाले, फिल्म को पास करनेवाले (सेंसर बोर्ड) और फिल्म देखकर आनेवाले पत्रकारों की सुनने को तैयार कौन है? राजस्थानी मर्दों और करणी सेना का पारा सातवें आसमान पर है।

लेकिन जितनी बार भी एंकरिंग करते हुए इन पोस्टर जलाते, तोड़फो़ड़ करते, हंगामा मचाते दृश्यों को देखता हूं तो मन ही मन सोचता हूं कि रानी पद्मावती आज होतीं तो ज़रुर कुछ सवाल पूछतीं इन समाज के ठेकेदार सैनिकों से।

पहला सवाल-
जिस राज्य के पुरुष इतिहास में कैद एक महिला की आबरु के लिए यूं सड़कों पर हैं वो क्यों तब सड़क पर नहीं उतरते जब रोज़ औसतन 10 लड़कियों की आबरु तार तार होती है सूबे में?

दूसरा सवाल-
लड़ाई एक महिला को सम्मान दिलाने की है तो सूबे की आधी से ज्यादा उन लड़कियों को स्कूल क्यों नहीं भेजते जो अनपढ़ घर पर बैठी हैं? पढ़ेंगीं तभी तो अपना सम्मान हासिल कर सकेंगीं। पढ़ने लिखने की उम्र में उन्हें ब्याहकर, गर्भवती बनाकर कौन सा मान देते हो उनको? तब उनकी हालत देखकर खून नहीं खौलता?

तीसरा सवाल-
अगर महिलाओं का सम्मान वाकई नाक की लड़ाई है तो 1000 लड़कों पर 888 लड़कियां ही क्यों हैं? कोख में मरती उन बच्चियों को दुनिया में आने और हक से जीने का सम्मान देने की लड़ाई क्यों नहीं लड़ते? भ्रुण हत्या के खिलाफ़ सड़कों पर क्यों नहीं उतरते, पुतले क्यों नहीं फूंकते?

चौथा सवाल-
महिलाएं बच्चों को जन्म देते वक्त जान गंवा रही हैं, आज भी लकड़ी पर खाना पकाकर धुएं में घुटती हैं… उसकी लड़ाई कौन लड़ेगा?

पांचवा सवाल-
जो राज्य सरकार पद्मावती के सम्मान की लड़ाई में फिल्म का विरोध करनेवालों के साथ खड़ी है वो उन महिलाओं के साथ क्यों नहीं खड़ी होती जिनका सम्मान हर रोज़ उनसे छीन लिया जाता है?

आखिरी सवाल-
जिस सूबे की मुख्यमंत्री महिला है, वहां महिलाओं का ये हाल क्यों है? और अगर पद्मावत नहीं भी रिलीज़ हुई तो क्या सूबे में लाखों-हज़ारों पद्मावतियों के साथ बलात्कार करनेवाले सारे खिलजी, घर में अत्याचार करनेवाला खिलजी, कोख में बच्ची को मार देने वाला खिलजी, पढ़ने के लिए न भेजनेवाले खिलजी भी मर जाएंगे क्या?

जो इतिहास का हिस्सा है उसके लिए लड़ रहे हो, जो वर्तमान में हैं उनके लिए आंखें क्यों मूंद ली है? क्यों खामोश हो? कब बोलोगे, कब लड़ोगे? और लड़ोगे भी या नहीं?

सोचना ज़रूर।

57 thoughts on “पद्मावती होतीं तो करणी सेना से ये सवाल ज़रुर पूछतीं!

  1. Pingback: Generic cialis
  2. Pingback: Cialis cost
  3. Pingback: Buy generic cialis
  4. Pingback: Generic cialis
  5. Pingback: Viagra 5mg prix
  6. 215979 433581Superb editorial! Would like took pleasure the specific following. Im hoping to learn to read a whole lot a lot more of you. Theres no doubt that you possess tremendous awareness and even imagination. I happen to be extremely highly fascinated using this critical details. 48030

  7. 879962 541111This really is the fitting weblog for anybody who desires to locate out about this topic. You notice a lot its almost onerous to argue with you (not that I truly would wantHaHa). You undoubtedly put a brand new spin on a topic thats been written about for years. Good stuff, basically excellent! 944734

  8. Pingback: Buy cialis online
  9. 288306 86033The the next occasion Someone said a weblog, Hopefully so it doesnt disappoint me approximately this. What im saying is, I know it was my choice to read, but I in fact thought youd have something intriguing to express. All I hear is often a number of whining about something that you could fix in the event you werent too busy looking for attention. 229944

  10. 256932 670072of course like your web-site nevertheless you want to check the spelling on quite a few of your posts. Several them are rife with spelling issues and I to find it really bothersome to inform the reality nevertheless Ill surely come back again. 209536

  11. 716692 454913The Twitter application page will open. This really is great if youve got several thousand followers, but as you get a lot more and a lot more the usefulness of this tool is downgraded. 932858

  12. 559180 72290I discovered your blog web site on google and check several of your early posts. Continue to keep up the very excellent operate. I just additional up your RSS feed to my MSN News Reader. Seeking forward to reading a lot more from you later on! 313313

  13. 688920 531601Was koche ich heute – diese Frage stellen sich tag fuer tag viele Menschen. Und wir haben tag fuer tag die perfeckte Antwort darauf! Besuchen Sie uns auf unserer Webseite und lassen Sie sich von uns beraten . Wir freuen uns auf Sie! 930730

  14. 345162 995672Terrific paintings! That will be the type of data that are meant to be shared about the net. Shame on the seek for no longer positioning this publish higher! Come on over and consult with my internet site . Thank you =) 790071

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *